मानसिक रूप से मजबूत रहने के फायदे | Benefits of staying mentally strong

मानसिक रूप से मजबूत रहने के फायदे

अगर आप मानसिक रूप से मजबूत हैं तो आप बड़े से बड़े व्यक्ति को पीछे छोड़ कर अपने क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं मानसिक रुप से मजबूत रहना बहुत आवश्यक है जो व्यक्ति मानसिक रूप से मजबूत नही है वह कभी अपने कार्य को ठीक से पूरा नही कर सकता।

 मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति ही सही मार्ग का चयन कर सकता है और सभी को पीछे छोड़कर आगे बढ़ सकता है, मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति बुद्धि और शरीर दोनों में शक्तिशाली होता है वह अपने लक्ष्य के प्रति गंभीर होता है...

मानसिक रुप से मजबूत रहने वाले व्यक्ति की खूबियां-

मानसिक रुप से मजबूत रहने वाले व्यक्ति कभी हार नही मानते।
मानसिक रुप से मजबूत व्यक्ति के पास हार मानने का कोई बहाना नही होता।

वह अपने लक्ष्य के प्रति सदैव गंभीर रहते हैं और किसी भी कार्य को करने से नहीं डरते अर्थात किसी भी कार्य को करने में पीछे नही हटते।

वह तब तक प्रयास करते हैं जब तक वह अपने कार्य मे सफल नही हो जाते...

मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति अपनी गलतियों से ही सीखते हैं सदैव अपनी गलतियों से सीखे और उसमें लगातार सुधार करते रहें।
एक सफल व्यक्ति वही होता है जो अपनी गलतियों से लगातार सीखता है और उन्हें ठीक करने का निरंतर प्रयास करते रहता है।


Albert Einstein, Albert Einstein biography
Albert Einstein

Albert Einstein का कहना है कि अगर किसी व्यक्ति ने गलती नहीं की तो उसने कुछ नया सीखने का प्रयास भी नहीं किया।

 मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति कोई कार्य किसी को दिखाने के लिए नही करते।

आपको अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अपने कार्यों को पहले प्राथमिकता देना जरूरी है। कभी-कभी अपने कार्यों को प्राथमिकता देने के कारण व्यक्ति अपने मित्रों या सगे संबंधियों को निराश भी करते हैं जिसके कारण वह उनसे नफरत करने लगते हैं।

परन्तु जब वह व्यक्ति अपने लक्ष्य को पा लेता हैं तो वही नफरत करने वाले लोग उनको पसंद करने लगते हैं, मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति अपने कार्य मे निरंतर लगा रहता है और दूसरे के द्वारा की गई आलोचना से घबराता नही है।
 सबसे महत्वपूर्ण बात, हमे ये नही सोचना चाहिए कि जो काम हम कर रहे हैं क्या हम उसे पूरा कर भी पाएंगे या नही जिसके कारण बहूत से लोग अपना कार्य बीच मे ही छोड़ देते हैं,

 लेकिन ऐसा करने से कोई फायदा नही है हमने पहले जितना समय उस काम को दिया था वो तो व्यर्थ है चला गया क्यों न थोड़ा और मेहनत करके उस कार्य को पूरा ही कर लिया जाए।

कभी भी आलोचना से मत घबराइए बल्कि उसपर खरा उतरकर दिखाए यकीन मानिए कल तक जो आपकी आलोचना करते थे कल वो ही आपको सलाम करेंगें।

मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति किसी भी कार्य को लेकर चिंतित नही रहते।
चिन्ता एक ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति के जीवन को पूरी तरह से बर्बाद कर देती है, चिंतित व्यक्ति किसी से खुल के बात नही कर पाता किसी से अपनी समस्या शेयर नही कर पाता, वह मानसिक और शारीरिक रूप से बहूत कमजोर हो जाता है जबकि मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति कभी भी कोई बात अपने दिल पे नही लेता क्योंकि वह जानता है चिंता करने से कोई लाभ नही होगा।

वह यह भली भांति समझता है कि प्रत्येक समस्या का समाधान मनुष्य के पास है और उसे हम ही ठीक कर सकते हैं इसलिए बेवजह चिन्ता करने का क्या फायदा।

दोस्तों दुनिया में ऐसा कोई भी कार्य नही जो मनुष्य नही कर सकता और ऐसी कोई भी समस्या नही जिसका समाधान मनुष्य के पास नहीं, केवल इतना ध्यान रखें कि जो कार्य हम कर रहे हैं उसे पूरी लगन से करें मै यकीन दिलाता हूँ कि आप अपने कार्य मे जरूर सफल होंगे।

दोस्तों आपको ये पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और अच्छी लगे तो अपने दोस्तों को भी शेयर करें...

टिप्पणी पोस्ट करें

2 टिप्पणियां