जो आप सोचते हैं अंत में आप वही बनते हैं | In the end you become what you think.

नमस्कार, आज हम एक कहानी के द्वारा अपनी सोचने की शक्ति के महत्व के बारे में जानेंगे।
विचारों की शक्ति ऐसी चीज है उसकी गंभीरता जिसे समझ में आ गई वह कभी विचारों को यूं ही नहीं लेगा, तो चलिए मैं आपको  इसी विषय में एक कहानी सुनाता हूं।

 एक प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका ने एक प्रयोग किया उसकी कक्षा के छात्रों के अभिभावकों की सहमति से यह प्रयोग किया गया।

 अध्यापिका ने कक्षा के छात्रों को बताया कि हाल की एक वैज्ञानिक  रिपोर्ट के अनुसार नीली आंखों वाले बच्चे भूरी आंखों वाले बच्चों से अधिक होशियार होते हैं, और बहुत जल्दी सीखते हैं फिर उस अध्यापिका ने कक्षा को दो समूहों में बांट दिया, एक समूह नीली आंखों वाले बच्चों का था जो रिपोर्ट के अनुसार होशियार थे और दूसरा समूह बुद्धू बच्चों का -भूरी आंखों वाले बच्चे।

 ऐसा दिखाई दिया कि लगभग 1 सप्ताह में भूरी आंखों वाले बच्चों के अध्ययन स्तर में स्पष्ट दिखाई दे,
 इतनी गिरावट आई और नीली आंखों वाले बच्चों का स्तर स्पष्ट रूप से ऊंचा हुआ फिर अगले सप्ताह अध्यापिका ने कक्षा में चौंकाने वाली घोषणा की।

Soch kya hai, safal hone ke liye kya soche, soch

 उसने कहा कि मुझसे गलती हो गई बहुत बड़ी गलती।
उस विज्ञानिक परीक्षण का निष्कर्ष मैंने तुम लोगों को एकदम उल्टा बता दिया।

 भूरी आंखों वाले नहीं बल्कि नीली आंखों वाले बच्चे बुद्धू होते हैं।
 भूरी आंखों वाले बच्चे होशियार होते हैं और तेजी से सीखते हैं।
 इस घोषणा के उपरांत भूरी आंखों वाले बच्चों का स्तर सुधारने लगा और नीली आंखों वाले बच्चों के स्तर में गिरावट आने लगी।

 हम जो सोचते हैं हम वही बनते हैं, इतनी आसान बात है इसलिए समझ बूझकर विचार चुनें जो चाहिए सिर्फ उसी पर अपनी सोच केंद्रित कीजिए।

 जो नहीं चाहिए उस ओर ध्यान ही मत दीजिए, अधिकतर असफल लोगों में जो समानता दिखाई देती है, वह यह कि एक तो उन्हें अपने विचारों का समय पर जो असर होता है उसका अंदाजा ही नहीं होता या फिर जानकर भी वे इस ओर ध्यान नहीं देते।

 असफलता के बारे में क्यों सोचना जब सफलता के बारे में सोचने के लिए भी उतनी ही शक्ति लगती है। हमेशा सकारात्मक विचार रखें कभी भी नकारात्मक विचार अपने मन में ना आने दे।

इन्हें भी पढ़ें:- 
मानसिक रूप से मजबूत रहने के फायदे 
सफल होने के लिए जलना तो पड़ेगा

याद रखिए हम जो सोचते हैं उसका 90% हिस्सा हमारे मूड पर असर करता है एक गलत विचार हमारे पूरे मूड को खराब कर सकता है। 

 मैं आशा करता हूं कि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी, अगर आपके कोई सवाल है तो हमसे कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां