मुश्किल कुछ भी नहीं | Nothing hard

1940 की बात है, विल्मा रूडोल्फ नाम की एक लड़की थी, समय से पहले उसका जन्म हुआ।
 जन्म के समय उसका वजन 2 किलो था।। गरीब काले परिवार में वह जन्मी थी।

बचपन में ही उसे पोलियो हो गया, उसकी मां को एक डॉक्टर ने बताया इसका कोई इलाज नहीं है।
इतना सुनकर उसकी मां चुप नहीं बैठी।

 विल्मा पुरानी याद बताते हुए कहती है, डॉक्टर ने कहा मैं कभी चल नहीं सकूंगी, मेरी मां ने कहा मैं जरूर चलूंगी मैंने मेरी मां की बात पर भरोसा किया विल्मा की मां को पता लगा कि उसके गांव से 80 किलोमीटर दूर एक अस्पताल है, जहां उसका इलाज किया जा सकता है।

Vishwas kya hai, story of trust
एक अविश्वसनीय कहानी विश्वास की

 विल्मा की मां पूरे 2 साल तक हफ्ते में दो बार बेटी को लेकर उस अस्पताल में गई।
 2 साल के इलाज के बाद विल्मा बैसाखियों की सहायता से चलने लगी।

12 वर्ष की उम्र में बैसाखियों के बिना व सामान्य रूप से चलने लगी 16 साल की आयु में 1956 के ओलंपिक में उसने दौड़ प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता।

 1960 के ओलंपिक की अलग-अलग दौड़ प्रतियोगिताओं में तीन स्वर्ण पदक जीतकर तीन स्वर्ण पदक जीतने वाली वह अमेरिका की पहली महिला धावक बनी।

बाइबिल में है:- राई के दाने जितना भी विश्वास अगर आप में हो, और उस विश्वास के आधार पर आप "पर्वत से कहें चलो यहां से उस जगह पर जाओ" तो वह पर्वत वहां चला जाएगा, और कोई भी चीज आपके लिए असंभव नहीं रह जाएगी।

 एक महिला ने यह पढ़ा तो उसे इस पर भरोसा ही नहीं हुआ उसने सोचा कि क्यों ना इसे प्रयोग करके देखा जाए।
एक दिन उस महिला ने रात में सोने से पहले घर की खिड़की में से उसने पर्वत को आदेश दिया, चल यहां से उधर की जगह पर जा, अगर तू सुबह तक भी जाएगा तो चलेगा, सुबह उठकर उस महिला ने खिड़की से देखा पर्वत वहीं था।

 वह बोली मुझे पता था पर्वत कैसे जा सकता है, उस महिला को पर्वत जा सकता है, यह यकीन ही नहीं था उसे यह यकीन था, कि पर्वत जा ही नहीं सकता।

 वैसा ही हुआ पर्वत नहीं गया। विश्वास मनुष्य को मिली हुई एक बहुत बड़ी शक्ति है, बड़े-बड़े अनगिनत चमत्कार मानव ने इसी विश्वास के बल पर किए हैं।
 विश्वास मनुष्य की बहुत बड़ी ताकत है यदि आप जीवन में कुछ करना चाहते हैं तो आपको उस कार्य के प्रति अखंड विश्वास की आवश्यकता है।

इन्हें भी जाने: 
अवसर | Opportunityसफल होने के लिए जलना तो पड़ेगाअपने लक्ष्य को कैसे हासिल करेंजो आप सोचते हैं अंत में आप वही बनते हैं
 विश्वास के बिना आप कुछ भी नहीं कर सकते, हमेशा यह याद रखिए कि जो करना है वह तुरंत करना है जब तक हम कुछ करेंगे नहीं हमारी हालत नहीं सुधरेगी।

आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बताएं और यदि आपके कोई सवाल है तो हमसे कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर पूछें। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां