उत्तराखंड के बारे में कुछ आवश्यक जानकारियां Some essential information about Uttarakhand in hindi

उत्तराखंड के बारे में

उत्तराखण्ड पूर्व नाम उत्तराञ्चल था, यह उत्तर भारत में स्थित एक राज्य है इसका निर्माण 9 नवम्बर 2000 को कई वर्षों के आन्दोलन के पश्चात उत्तराखण्ड भारत गणराज्य के सत्ताइसवें राज्य के रूप में किया गया था। सन् 2000 से 2006 तक यह उत्तराञ्चल के नाम से जाना जाता था। लेकिन जनवरी 2007 में स्थानीय लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए राज्य का आधिकारिक नाम बदलकर उत्तराखण्ड कर दिया गया। 
Uttrakhand-baare-mein, utrakhand ka parichay
Uttrakhand-baare-mein

उत्तराखंड के मण्डल, जिले तथा तहसील


मंडल

उत्तराखंड में 2 मंडल है जो इस प्रकार है

  1. कुमाऊं मंडल (6 जिले)
  2. गढ़वाल मंडल (7 जिले)

    मुख्यालय

    कुमाऊं मंडल का मुख्यालय - नैनीताल
    गढ़वाल मंडल का मुख्यालय - पौड़ी

    स्थापना वर्ष

    कुमाऊं मंडल का स्थापना वर्ष - 1854
    गढ़वाल मंडल का स्थापना वर्ष - 1969

    दोनों मंडल में सम्मिलित जिले

    जिलों के नाम

    नैनीताल, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, उधम सिंह नगर, बागेश्वर, चंपावत, चमोली, उत्तरकाशी, देहरादून, पौड़ी, टिहरी, हरिद्वार, रुद्रप्रयाग।

    उत्तराखंड में कुल जिलों की संख्या- 13 जिले

    उत्तराखंड राज्य की तहसीलें

    उत्तराखंड राज्य में कुल तहसीलें- 110 तहसील।

    1. जनपद का नाम- नैनीताल
    तहसीलों की संख्या- 9
    तहसीलों का नाम- नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर, धारी, कुस्या कटौली, कालाढूंगी, बेतालघाट, लालकुआं, ओकलकांडा।

    2. जनपद का नाम- अल्मोड़ा
    तहसीलों की संख्या- 12
    तहसीलों के नाम- अल्मोड़ा, रानीखेत, भिकियासैंण, सल्ट, चौखुटिया, सोमेश्वर, द्वाराहाट, भानौली, स्याल्दे, धौलछीना व लमगड़ा।

    3. जनपद का नाम- पिथौरागढ़
    तहसीलों की संख्या- 12
    तहसीलों का नाम- पिथौरागढ़, मुनस्यारी, धारचूला, डीडीहाट, गंगोलीहाट, बेरीनाग, बंगापानी, गणाई-गंगोली, देवलथल, कनालीछीना, थल, तेजम।

    4. जनपद का नाम- चमोली
    तहसीलों की संख्या- 12
    तहसीलों का नाम- चमोली, जोशीमठ, कर्णप्रयाग, थराली, पोखरी, गैरसैंण, घाट, जिलासू ,आदिबदरी, नंदप्रयाग, नारायण बगड़, देवाल।

    5. जनपद का नाम- उत्तरकाशी
    तहसीलों की संख्या- 6
    तहसीलों का नाम- डुंडा, भटवाडी़, पुरोला, बड़कोट, मोरी, चिन्यालीसोड़।

    6. जनपद का नाम- पौड़ी
    तहसीलों की संख्या- 12
    तहसीलों का नाम- पौड़ी, श्रीनगर, थलीसैंण, कोटद्वार, धुमाकोट, लैंसडाउन, यमकेश्वर, चौबट्टाखाल, सतपुली, चाकीसैण, जाखड़ीखाल, बीरोंखाल।

    7. जनपद का नाम- टिहारी
    तहसीलों की संख्या- 12
    तहसीलों का नाम- टिहारी, प्रताप नगर, नरेंद्रनगर, देवप्रयाग, थनसाली, जाखणीधार, धनोल्टी, कडींसैड़, गजा, नैनबाग, कीर्तिनगर, बालगंगा।

    8. जनपद का नाम- देहरादून
    तहसीलों की संख्या- 7
    तहसीलों का नाम- चकराता, देहरादून, विकासनगर, ऋषिकेश, त्यूनी, कालसी, डोईवाला।

    9.  जनपद का नाम- उधम सिंह नगर
    तहसीलों  की संख्या- 8
    तहसीलों का नाम- काशीपुर, किच्छा, खटीमा, सितारगंज, बाजपुर, जसपुर, गदरपुर, रुद्रपुर।

    10. जनपद का नाम- बागेश्वर
    तहसीलों की संख्या- 6
    तहसीलों का नाम- बागेश्वर, कपकोट, गरुड़, कांडा, दुग्नाकरी, काफलीगैर।

    11. जनपद का नाम- चंपावत
    तहसीलों की संख्या- 5
    तहसीलों का नाम- चंपावत, पाटी, पूर्णागिरि, लोहाघाट, बाराकोट।

    12. जनपद का नाम- रुद्रप्रयाग
    तहसीलों की संख्या- 4
    तहसीलों का नाम- रुद्रप्रयाग, उखीमठ, जखोलीबसुकेदार ।

    13. जनपद का नाम- हरिद्वार
    तहसीलों की संख्या- 5
    तहसीलों का नाम- हरिद्वार, लक्सर, रुड़की, भगवानपुर, नारसन।

    राज्य के प्रमुख बस अड्डे

    1. देहरादून
    2.  हरिद्वार
    3.  हल्द्वानी
    4.  रुड़की
    5.  रामनगर
    6. कोटद्वार

    राज्य के रेलवे स्टेशन


    देहरादून: देहरादून का रेलवे स्टेशन, घण्टाघर/नगर केन्द्र से लगभग 3 किमी कि दूरी पर है। इस स्टेशन का निर्माण 1897 में किया गया था। 
    1. हल्द्वानी काठगोदाम रेलवे स्टेशन
    2. हरिद्वार जंक्शन
    3. रुड़की
    4. रामनगर
    5. कोटद्वार रेलवे स्टेशन

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां